Monday, 23 May 2016

जीवन सुगम पथ

कलरव क्रंदन
जीवन सुगम पथ
सरस सरल जल प्रवाह

मीन मीन, जल
जल जल, मीन
स्वयम् में अनंत का भाव

No comments:

Post a Comment

राम

अगर कोई विकास से लेकर राष्ट्रवाद तक के इस दस मुख वाले रावण का अंत कर दे  तो मैं माँ लूँगा की राम हैं  अगर कोई अर्जुन की तरह  संश...