Posts

Showing posts from September, 2011

मैं तुमसे अलग!

Image
शाखोंसेअलगपत्ते,
हवाकेहल्केझोंकेसेदूरचलेजाते हैं।
मैंतुमसेअलग,
इतनाजड़कैसेहूँ।

जंगलमेंपेड़सेअलगसूखेपत्ते,
यूँहीजलजातेहैं।
मैंतुमसेअलग ,
अबतक जलाक्योंनहीं।

समंदरसेअलगहुईलहर,
अपनाअस्तित्वखोदेतीहै।
मैंतुमसेअलग,
खुदकाहोनासोचूँकैसे।

तुम सुगंध हो मेरी

Image
तुमसुगंधहोमेरी
मैंपवनहूँतेरा
मिलतूजाएअगर
तोयेजीवनमेरा ।

चाँदकोचाहिए
चाँदनी, औरक्या
तूनहींहैतोफिर
क्यायेजीवनमेरा।

हैमेरेजोनयन
अश्रुपूरितयहाँ
मनमेंमेरेजोहै
बसवोचेहरातेरा।

शामकीरोशनी
मुझकोअच्छीलगे
पासतूहैनहीं
नसुबहका उजाला तेरा।

आशदिलमेंमगर
है एक बाकी अभी
वोबनकेआये
सुबहकाउजालामेरा।