Wednesday, 2 March 2011

unki akho me ek gahra samandar basta hai;
jinhone pyar ka matlab samjha hai.
ham to yun bhi bah gaye the waqt ke sath;
khusnaseeb hai unhone apna samjha hai।

No comments:

Post a Comment

सुंदर पुरुष, बहादुर स्त्रियाँ

धीरे-धीरे मुझे ये यक़ीन हो गया है की दुनिया के सारे सुंदर पुरुष खाना पकाने में कुशल होते हैं क्यों की सुंदर वही होता है जो भीतर मन से पका ह...